Other Online Portal

योजना उद्देश्य पात्रता लाभार्थी को देय लाभ महत्त्वपूर्ण लिंक
जनजाति प्रतिभा सम्मान समारोह राज्य के अनुसूचित क्षेत्र (टीएसपी) की प्रतिभावान जनजाति छात्र / छात्राओं को उल्लेखनीय उपलब्धि हेतु सम्मानित करना।
  1. आवेदक अनुसूचित क्षेत्र का मूल निवासी होना चाहिये |
  2. आवेदक अनुसूचित जनजाति का होना चाहिये
  3. आवेदक ने निम्न क्षेत्र में प्रतिभा अर्जित की है चयन हेतु पात्र मने जायेंगे |
    • केन्द्र / राज्य प्रशासनिक / अधिनस्थ सेवाओं में एवं राजपत्रित अधिकारी में चयनित हुए हो |
    • केन्द्र एवं राजकीय उपक्रम की प्रतिष्ठित संस्थाओं में नियुक्त हुए हो |
    • आई.आई.टी./एम्स / पीजी (मेडिकल) / एमबीबीस (NEET) के माध्यम से तकनिकी एवं मेडिकल परीक्षाओं में उत्तीर्ण हो कर मान्यता प्राप्त महाविद्यालयों में प्रवेश लिया हो |
    • आवेदक द्वारा कक्षा 10 वीं एवं 12 वीं में नियमित अध्ययन कर प्रथम प्रयास में बोर्ड परीक्षाओं में 75 प्रतिशत एवं उस से अधिक अंक अर्जित किये हो |
    • आवेदक द्वारा स्नातक / स्नात्तकोतर परीक्षा प्रथम प्रयास में 65 प्रतिशत अंक अर्जित किये हो |
    • आवेदक द्वारा विद्यावाचस्पति उपाधि डिग्री प्राप्त किया हो |
    • आवेदक द्वारा सी.ए. / सी.एस. का प्रमाण पत्र प्राप्त किया हो |
    • आवेदक का चयन राष्ट्रीय स्तरकी संस्थाओं में राजपत्रित पद पर हुआ हो | (BARC,ISRO,AIIMS,IIM,IIS)
Apply Online
मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजनान्तर्गत RAS परीक्षा की कोचिंग | मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजनान्तर्गत महारानी कॉलेज, जयपुर / मीरा गर्ल्स कॉलेज, उदयपुर में अध्ययनरत जनजाति वर्ग की बालिकाओं को SPRING BOARD ACADEMY, JAIPUR / CHANAKYA ACADEMY, JAIPUR द्वारा RAS परीक्षा की कोचिंग |
  1. अभ्यर्थी राजस्थान राज्य की मूल निवासी हो |
  2. अभ्यर्थी अनुसूचित जनजाति वर्ग से हो |
  3. इस योजनान्तर्गत महारानी कॉलेज, जयपुर एवं मीरा गर्ल्स कॉलेज, उदयपुर में अध्ययनरत जनजाति वर्ग की बालिकाएं ही आवेदन कर सकती है।
  4. महारानी कॉलेज, जयपुर में स्नातक स्तर में नियमित अध्ययनरत द्वितीय वर्ष या अंतिम वर्ष (किसी भी संकाय) की छात्राएं एवं राजस्थान यूनिवर्सिटी में स्नातकोत्तर स्तर में नियमित अध्ययनरत प्रथम वर्ष या अंतिम वर्ष (किसी भी संकाय) की छात्राएं पात्र है |
  5. मीरा गर्ल्स कॉलेज, उदयपुर में स्नातक स्तर में नियमित अध्ययनरत अंतिम वर्ष (किसी भी संकाय) की छात्राएं एवं स्नातकोत्तर स्तर में नियमित अध्ययनरत प्रथम वर्ष या अंतिम वर्ष (किसी भी संकाय) की छात्राएं पात्र है |
  6. सभी चयनित छात्राओं को विभागीय जनजाति बालिका कॉलेज छात्रावास, महारानी कॉलेज, जयपुर / जनजाति बालिका कॉलेज छात्रावास, मीरा गर्ल्स कॉलेज, उदयपुर में निवास कर कोचिंग प्राप्त करना अनिवार्य होगा |
  7. अभ्यर्थी के माता-पिता / अभिभावक की वार्षिक आय (अभ्यर्थी की आय को सम्मिलित करते हुए यदि कोई है तो) रुपए 8.00 लाख (रुपए आठ लाख) से कम हो या जिनके माता-पिता राज्य सरकार के कार्मिक होने पर पे मैट्रिक्स का लेवल -11 तक का वेतन प्राप्त कर रहे हो | अभ्यर्थी के माता-पिता / अभिभावक राजकीय/बोर्ड/निगम/निजी सेवा में सेवारत/कार्यरत वेतनभोगी है तो विभागाध्यक्ष/कार्यालयाध्यक्ष/नियोक्ता द्वारा जारी किया गया आय प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करेंगे |
  8. अभ्यर्थी द्वारा पूर्व में अनुप्रति योजना का लाभ नहीं लिया हो |
  1. महारानी कॉलेज, जयपुर में अध्ययनरत चयनित 100 जनजाति वर्ग की बालिकाओं को SPRING BOARD ACADEMY, JAIPUR के द्वारा जयपुर में कोचिंग प्रदान की जाएगी |
  2. मीरा गर्ल्स कॉलेज, उदयपुर में अध्ययनरत चयनित 200 जनजाति वर्ग की बालिकाओं को CHANAKYA ACADEMY, JAIPUR के द्वारा उदयपुर में कोचिंग प्रदान की जाएगी |
Tata Electronics Private Limited (TEPL) द्वारा जनजाति अभ्यर्थियों के लिये रोजगार अभियान Tata Electronics Private Limited (TEPL) द्वारा जनजाति अभ्यर्थियों के लिये रोजगार अभियान
  1. भारत सरकार या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विद्यालय से 12वीं उत्तीर्ण।
  2. अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष एवं अधिकतम आयु 22 वर्ष होनी चाहिए |
  3. केवल महिला अभ्यर्थी ही इस योजना की पात्र है।
  4. अभ्यर्थी का न्यूनतम वजन 40 कि.ग्रा. आवश्यक है।
  5. अभ्यर्थी की न्यूनतम ऊंचाई 145 से.मी. आवश्यक है।
चयनित अभ्यर्थियों को Tata Electronics Private Limited (TEPL) द्वारा 30 दिन का आवासीय प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। जिसमें आवास एवं भोजन सुविधा निःशुल्क होगी। 30 दिवस के सफलतापूर्वक प्रशिक्षण के उपरान्त रोजगार प्रदान किया जाएगा।
Film and Television Institute of INDIA (FTII) द्वारा जनजाति अभ्यर्थियों के लिये ऑनलाइन कोर्सेज आजादी का अमृत महोत्सव के तहत देशव्यापी समारोह के हिस्से के रूप में एफ. टी. आई. आई. (भारत सरकार) ने फिल्म शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए राजस्थान के जनजाति वर्ग के लिए मुफ्त ऑनलाइन शोर्ट कोर्स (Online Short Courses) को शुरू करने का फैसला किया है | ऑनलाइन कोर्स 4 विषयों में होंगे- कोर्स हिंदी या अंग्रेजी में आयोजित किए जाएंगे |
  1. फिल्म विवेचन (Film Appreciation)
  2. स्क्रीन अभिनय (Screen Acting)
  3. स्मार्टफोन फिल्म बनाना (Smartphone Film Making)
  4. पटकथा लेखन (Screenplay Writing)
  1. भारत सरकार या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विद्यालय से कक्षा 12वीं या 10वीं उत्तीर्ण।
  2. अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष आवश्यक है।
चयनित अभ्यर्थियों को FTII द्वारा मुफ्त ऑनलाइन शार्ट कोर्स सिखाया जायेगा | ऑनलाइन कोर्स 4 विषयों में होंगे- कोर्स हिंदी या अंग्रेजी में आयोजित किए जाएंगे |
  1. फिल्म विवेचन (Film Appreciation)
  2. स्क्रीन अभिनय (Screen Acting)
  3. स्मार्टफोन फिल्म बनाना (Smartphone Film Making)
  4. पटकथा लेखन (Screenplay Writing)
NEET/JEE Coaching नीट / जेईई मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजनान्तर्गत जनजाति वर्ग की बालिकाओं को मुफ्त NEET परीक्षा की कोचिंग
  1. अभ्यर्थी राजस्थान राज्य की अनुसूचित उपयोजना क्षेत्र का मूल निवासी हो |
  2. अभ्यर्थी अनुसूचित जनजाति वर्ग से हो |
  3. अभ्यर्थी के माता-पिता / अभिभावक की वार्षिक आय (अभ्यर्थी की आय को सम्मिलित करते हुए यदि कोई है तो) रुपए 8.00 लाख (रुपए आठ लाख) से काम हो या जिनके माता-पिता राज्य सरकार के कार्मिक होने पर पे मैट्रिक्स का लेवल -11 तक का वेतन प्राप्त कर रहे हो | अभ्यर्थी के माता-पिता / अभिभावक राजकीय/बोर्ड/निगम/निजी सेवा में सेवारत/कार्यरत वेतनभोगी है तो विभागाध्यक्ष/कार्यालयाध्यक्ष/नियोक्ता द्वारा जारी किया गया आय प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करेंगे |
  4. अभ्यर्थी द्वारा पूर्व में संचालित अनुप्रति योजना का लाभ नहीं लिया हो |
  5. इस योजनान्तर्गत 10वी कक्षा में न्यूनतम 70 प्रतिशत प्राप्तांक वाली छात्राएं ही आवेदन कर सकेगी |
  6. अभ्यर्थी का कक्षा 11वि में प्रवेश पर विज्ञानं वर्ग में जीव विज्ञान विषय अनिवार्य है |
निशुल्क NEET परीक्षा कोचिंग के साथ निःशुल्क आवास, भोजन एवं अन्य सुविधाऐं उपलब्ध करायी जाती है।
Capacity building and self-employment of tribal unskilled labor (Toolkit DBT) जनजाति अकुशल श्रमिकों का क्षमता अभिवर्धन एवं स्वरोजगार उपलब्ध कराना योजना अंतर्गत कोविड - 19 महामारी के दौरान जनजाति उपयोजना क्षेत्र में निवासरत ऐसे भूमिहीन जनजाति वर्ग के युवक एवं युवतिया जो राज्य से बाहर रोजगार करते थे और लॉक डाउन के कारण वापस प्रदेश में आये है, को उनके कौशल से सम्बंधित टूलकिट हेतु राशि उपलब्ध कराना |
  1. अभ्यर्थी राजस्थान राज्य की अनुसूचित उपयोजना क्षेत्र का मूल निवासी हो |
  2. अभ्यर्थी अनुसूचित जनजाति वर्ग से हो |
  3. कोविड - 19 महामारी के दौरान राज्य से बाहर रोजगार छूटने और लॉक डाउन के कारण वापस प्रदेश में आये है |
  4. अभ्यर्थी द्वारा राज्य में लौटने से पूर्व सुथरी, लुहारी, मोटर बाइंडिंग, शटरिंग, बांस के फर्नीचर, मिटटी के बर्तन, लघु वन उत्पाद संग्रहण, प्लम्बिंग अथवा अन्य प्रकार के कौशल सम्बंधित कार्य किया जाता था |
जनजाति उपयोजना क्षेत्र के जनजाति के युवक युवतियों को स्वय का व्यवसाय करने हेतु व्यवसाय के अनुरूप टूलकिट क्रय करने हेतु रुपए 3000/- का एक मुश्त अनुदान उपलब्ध कराया जायेगा |