आयोग की शक्तियां

 
  • अनुसूचित जनजाति आयोग राज्य के अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों की समस्याओं का समाधान का कार्य सम्पादित करेगा। आयोग इन वर्गाे के आर्थिक, शैक्षणिक एवं सामाजिक विकास की योजनाओं की मोनेटरिंग करेगा तथा उत्थान के कार्यक्रमों को नियमित समीक्षा, पर्यवेक्षण करेगा।
  • आयोग कार्यालय, केम्प कार्यालय, जिला स्तरीय एवं उपखण्ड स्तरीय जनसुनवाई कार्यक्रम के माध्यम से अनुसूचित जनजाति के अभाव अभियोगों की जनसुनवाई करना।
  • राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ अनुसूचित जनजाति वर्ग के पात्र लोगों तक पहुँचाने हेतु निरीक्षण/भ्रमण/दौरे/समीक्षा बैठक ईत्यादि पंचायत/ब्लॉक स्तर/जिला स्तर पर आयोजित करना।
  • ईलेक्ट्रोनिक एवं प्रिन्ट मीडिया में अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों की समस्याओं पर प्रकाशित खबरों पर स्वतः संज्ञान लेकर सम्बन्धित अधिकारियों को प्रकरण निस्तारण हेतु प्रेषित करना।
  • अनुसूचित जनजाति वर्ग से सम्बन्धित राजस्व प्रकरणों एवं अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम - 1989 के तहत् दर्ज प्रकरणों की नियमित समीक्षा कर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश प्रदान करना।
  • राज्य सरकार को अनुसूचित जनजाति वर्ग के कल्याण हेतु प्रतिमाह महत्वपूर्ण सुझाव व मांगे प्रेषित करना।
  • राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग और सौंपे गये कृत्यों को निष्पादित करना।

अंतिम अपडेट तिथि:

28-12-2018

अनुसूचित जनजाति आयोग

राजस्थान अनुसूचित जनजाति आयोग, जयपुर।

सचिव

श्री मुरारीलाल अग्रवाल

फोन न.: 9414042923

ईमेल: murariagarwal2007@rediffmail.com

उपयोगी लिंक