उद्देश्य

उद्देश्य

जनजाति उपयोजना क्षैत्र एवं राजस्थान के अन्य ग्रामीण क्षैत्रों में रहने वाले ग्रामवासियों, विशेष तौर से महिलाओं व बच्चों के जीवन स्तर व सामाजिक आर्थिक स्थिति में सुधार लाना।

सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराना।

जनाजाति क्षेत्र में दूर-दराज के गांव/फलो में जनजाति बालकों को षिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ना एंव कुपोषण की समस्या से मुक्ति दिलाना।

क्षेत्र में रहने वाले ग्रामवासियों की व्यक्तिगत स्वच्छता तथा स्वच्छता के स्तर को बेहतर बनाना तथा पर्यावरणीय स्वच्छता में सुधार लाना।

जल प्रबन्धन तथा स्वास्थ्य चेतना के क्षेत्र में समुदाय के दृष्टिकोण व आदतों में सकारात्मक परिवर्तन लाना।

सभी प्रकार की जल जनित बीमारियों सम्बन्धी श्रव्य दुष्य व छपी हुई सामग्री की समीक्षा कर क्षेत्र की आवश्यकता के अनुसार उसका मुद्रण करवाना अथवा क्रय करना।

सम्बन्धित संस्थाओं को संचार सामग्री सम्बन्धी उचित उपकरणों के पहचान व क्रय करने में सहायता करना।

ग्राम स्तरीय कार्यकर्ताओं को संचार सामग्री निर्माण अध्ययन/प्रशिक्षण के सम्बन्ध में विशेषज्ञ सलाह व तकनीकी जानकारी प्रदान करना।

ग्राम स्तरीय कार्यकर्ताओं हेतु कार्यशालाओं, सेमीनार व प्रशिक्षण आयोजित करने में समन्वय स्थापित करना।

फ्लोराइड नियंत्रण के क्षेत्र में उन व्यक्तियों/संस्थाओं की पहचान करना जो प्रशिक्षण मोड्यूल निर्माण व शोध के क्षेत्र में कार्यरत है।

ग्रामीण क्षैत्रों में उत्पादित वस्तुओं की बिक्री को बढ़ावा देकर ग्रामीण क्षैत्रों में रोजगार को बढ़ावा देना।

प्राकृतिक संसाधनों का समुचित उपयोग कर जीवन स्तर में सुधार लाना।