प्रस्तावना

अनुसूचित क्षेत्र का सर्वागीण विकास, जनजातियों का आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं बौद्धिक विकास, जनजाति विकास की विभिन्न योजनाओं का निर्माण, समन्वय, नियंत्रण एवं निर्देशन, जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों में प्रशासन के स्तर को अन्य क्षेत्रों के समकक्ष लाना एवं जनजाति वर्ग के जीवन स्तर का उन्नयन।